Mohabbat

"Mohabbat bhi Zindagi ki tarah hoti hai
Har mod asaan nehi hota, har mod pe khushiya nehi milti.
Jab hum zindagi ka saath nehi chhodte toh
Mohabbat ka saath kyun chhode??
---Mohabbatein

2019-10-18

Tadap(तड़प)---254







दिल कि सुकुन कि आहट से भी अब खौफ सा लगता है
दर्द का बोझ अब और उठाया नही जायेगा 

बस यही वजह है

 लोगों से दुर भागता हुँ 

और करीब आनेवालो के दिल तोड़ देता हुँ II







4 comments:

  1. इससे पहले कि दूसरा दर्द दे,पहले ही किनारा कर लो।
    सुंदर अभिव्यक्ति।
    पहली बार आपके ब्लॉग तक आना हुआ।
    आप भी आओ कभी लिंक 👉👉  लोग बोले है बुरा लगता है

    ReplyDelete
    Replies
    1. Ji Bilkul yehi baat hai....
      Thanks for the appreciation.
      Will definitely visit, bookmarked it.

      Delete
  2. बहुत सुंदर अभिव्यक्ति, ज्योतिर्मय।

    ReplyDelete
    Replies
    1. Very glad to know, appreciation from you always very encouraging for me.

      Delete