Mohabbat

"Mohabbat bhi Zindagi ki tarah hoti hai
Har mod asaan nehi hota, har mod pe khushiya nehi milti.
Jab hum zindagi ka saath nehi chhodte toh
Mohabbat ka saath kyun chhode??
---Mohabbatein

2020-01-14

Tadap(तड़प)---322





यह दूरिया और बढ़ जाने दे
के बन जाऊं मे अफसाना 

आए मौत 

इस कदर तू दूर लेजा मुझे उससे
के याद से भी याद ना आऊं

उसे बाकी की ज़िंदगी
सुकून से जी लेने दे II

2020-01-13

Tadap(तड़प)---321





शराब की बोतोल हाथ मे उठाए
लड़खड़ाते कदमो से
हम मैखाने से निकले 


काश 


कलम हाथ मे उठाए
तड़पते दिल को कागज़ पे उतारते हुए
हम दर्द से बाहर निकलते II






2020-01-12

Tadap(तड़प)---320




वक़्त की ये बेरहमी तो देखो
ये कैसा हालात पैदा किया
हालातो से मजबूरियां बनी
और सपने सारे बिखर गए 


वक़्त का खेल था वो
इंसान तो बस महोरे थे 


आज भी पूछते है लोग
कैसे जुदा हुए वो दोनों
वो तो एक दूसरे पे मरते थे II





2020-01-11

Tadap(तड़प)---319




तड़प तो दोनों मे होती है
बस फर्क सिर्फ इतना है 

एक दिल की ज़ख़म है
जो दर्द बन कर उम्रभर तड़पाती है 


एक जिस्म की
जो वक़्त के साथ भर ही जाती  है 





2020-01-10

Tadap(तड़प)---318




एक दिन एक झोंका हवा का
तेरी गहरी नींद तोड़ जाएगी 

एक अजीब सी बेचैनी
एक उदासी
तेरे दिल को छू जाएगी 

धीरे धीरे उठ कर बिस्तर से तू
दबे पाओ खिड़की सामने खड़ी 
आसमान की और देखेगी 



कोई जगमगाता सितारा
तेरे दिल को भा जाये
तो समझलेना
में गुज़र गया II