Mohabbat

"Mohabbat bhi Zindagi ki tarah hoti hai
Har mod asaan nehi hota, har mod pe khushiya nehi milti.
Jab hum zindagi ka saath nehi chhodte toh
Mohabbat ka saath kyun chhode??
---Mohabbatein

2020-11-15

My Conversation With Corona

 

तो हुआ यूं के हमारे मोहल्ले मे दो चार लोगो को हो गई कोरोना । तो मजबूरन उन लोगो को होम Quarantine मे जाना पढ़ा । मेरे मोहल्ले मे एक एंकल है जिनकी एक बेटे को कोरोना ने जकर लिया, बेचारा दुर्गा पुजा की छुट्टी मे आया था घर, घरवालो के साथ वक़्त बिताएगा, घूमेगा-फिरेगा । घूमना-फिरना तो दूर की बात एंकल को ही माना कर दिया गया के मोहल्ले के पूजा मे ना आए, इस आंकल से  काफी पुरानी पहचान है हमारी, बहुत ही खुशमिजाज़ इंसान है । उनकी ऐसी दिक्कत सुनके मुझे बहोत बुरा लगा । 

 

 

तो, दो चार दिन पहले की बात है, हम जा रहे थे बाज़ार शाम को, तभी रास्ते मे कोरोना मिल गया, कुछ सवाल थे ज़ेहन मे, बहोत दीनो से मिलना चा रहे थे हम  कोरोना से  , मुलाकात हो गई तो दिल खुशी से डगमगा उठा, आज तो पूछ कर ही रहंगे सोच कर कोरोना को बुलाया हमने ...

 


 


 

कोरोना, आरे वो कोरोना ज़रा सुन तो  

कोरोना  इधर उधर देखने मे Busy था , शायाद कोई नई  शिकार की तलाश मे , मेरी आवाज से थोड़ा गुस्सा आ गया उसे, तो गुस्से से पूछा 

 

...किया है, किया बात है ?

 

तो बातचित कुछ इस तरह हुई...

 

मै : तुझसे  कुछ सवाल करना था 

 

कोरोना : बोल किया बोलना है 

 

मै : यह जो तू  किसी को अपना शिकार बनाता है  तो उसके घरवालो को क्यूँ छोड़ देता है  ?

 

कोरोना : मतलब , क्या कहना चाहता है तू ?

 

 

मै : असल मे लोग कहते है तू बड़े हे Infectious है , हवा, छींक, इत्यादी से जल्द ही फैल जाता है , तो Logical बात यही होगी ना के किसी के शरीर मे घूंसे और फिर उनके पूरे परिबार को जकर लिया । 

 

कोरोना ने गुस्से से पूछा 

...सवाल साफ नही है, तेरे कहने का मतलब किया है ?

 

मै : तू अगर इतना ही Infectious है तो जब किसी घरके किसि एक सदस्य को अपना शिकार बना रहा है तो बाकीओ को भी अपना शिकार बना , फिर या तो सभीको मार दे या Hospital पहुंचा दे ...पर ऐसा नही है , तू एक घर मे घुसता है , फिर उस घरके बाकीओ को छोड़ के किसी और दूसरे घर मे पहुँच जाता है । कभी सुना नही को तेरी वजह से पूरे एक हज़ार फॅमिली की एक साथ मौत हो गई ।

 

कोरोना थोड़ा मुस्कुराया और फिर मेरी जान पहचान के कुछ लोगो के नाम बताए, जिसमे 20 से लेकर 60 साल के औरत और आदमी दोनों थे और फिर पूछा 

 

...बता इन लोगो की खासियात किया है ?

 

मै : सबके सब Gossip Mongers hai ? 

 

कोरोना : बिलकुल सही, और ऐसी लोगो की खासियात होती है के पूरे दिन किसी एक या दो लोगो के बारे मे चर्चा करके इनके मन नही भरते, सुबह से दोपहर तक कमसेकम 4-5 लोगो को लेकर चर्चा ज़रूर  करेगा  फिर शाम से लेकर रात तक और 4-5 । तो मै भी हूँ एक gossip monger , देख तुझे सच्चाई बता रहा हूँ , किसी एक घर मे घूँस गया तो एक-दो दिन मे लगभग सारी बाते समझ जाता हूँ , फिर वो घर तो रहा ही साथ मे दूसरे घरमे घुसने की कौशीस , मतलब दूसरे किसी के ज़िंदगी मे ताकझाक करने चला जाता हूँ, वरना मन नही भरता ,ऐसा नही किया तो ज़िंदा ही नही रह पाऊँगा । 

 

मै : अच्छा तो यह माजरा है , अब समझ मे आया 

 

कोरोना : बिलकुल, यह माजरा तो है ही साथ मे एक और माजरा भी है ...

 

मै : वो किया ?

 

कोरोना : तूने Tiktok and Vigo का  नाम तो सुना ही होगा ?

 

मै : हाँ, बिलकुल, किसे नही पता इसके बारे मै , तू किया Tiktokers/Vigoers के बारे मे बात करनेवाला है ?

 

कोरोना : नही , में बात कर रहा हूँ उन सब लोगो की जो Tiktok and Vigo के Videos लगातार देखते आ रहे है यहा  आज भी देखते है ...देख Tiktok and Vigo कहा की Product है ये तुझे भी पता है , तो तुझे किया लगा के उन लोगो ने ऐसी app बिना किसी Research  के बनाया , उन लोगो को पता है के दुनिया मे ऐसे बहुत सारे लोग है जिनकी Mind बहुत ही Restless है, किसी एक चीज़ मे यह लोग ज़्यादा देर तक Focus नही रख पाते, हर 10-15 Second मे इन लोगो को कोई नई चीज़ चाहिए ...सही कहा ना ?

 

मै : एकदम सही कहा तूने , तो इस से तेरा किया रिश्ता 

 

कोरोना : जी जनाब , हम भी ऐसे ही Restless Mind के है , ज़्यादा देर तक किसी एक जगह यहा  एक Topic मे मन नही लगता , इसी लिए हर घंटे हर दिन कोई नया Topic ढूंढते रहते है । वैसे जो Gossip Mongers  होते है उनके दिमाग भी ऐसी ही होती है, दिनभर किसी एक इंसान के बारे मे Gossip नही कर सकता, कमसेकम 5-10 लोग के बारे मे चर्चा तो करता ही है । तो ये है मेरी फितरत , अब समझमे आया तुझे ?

 

तो ,यह थी हमारी बातचीत । इसके बाद हम चले गए बाज़ार और कोरोना अपना शिकार ढूंढता रहा

 

1 comment:

  1. कोरोना से बहुत ही बढ़िया संवाद,ज्योतिर्मय।

    ReplyDelete